NEWSUTTAR PRADESH

UP Election 2022: विधानसभा चुनाव में 80 प्रतिशत सीटें BJP को, शेष 20 प्रतिशत में विपक्ष का बंटवारा: योगी आदित्यनाथ

सौरभ शुक्ला

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने राज्य विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की प्रचंड बहुमत से जीत का दावा किया है। सीएम योगी ने कहा कि दस मार्च को राज्य में फिर से कमल खिलेगा और राष्ट्रवाद, विकास, सुशासन और सुरक्षा के मुद्दे पर भाजपा और उसके सहयोगियों को 80 प्रतिशत सीटें मिलेंगी और शेष 20 फीसद में विपक्ष का बंटवारा होगा. सातवें चरण का चुनाव प्रचार थमने से पहले मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने भाजपा के प्रदेश मुख्यालय में पत्रकारों से कहा, ‘‘मैं विश्वास और भरोसे से कह सकता हूं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व और मार्गदर्शन में दस मार्च को फिर से डबल इंजन की सरकार प्रदेश में सत्तारूढ़ होगी। भाजपा राज्य में प्रचंड बहुमत के साथ सरकार बनाने में सफल होगी। ’’

उल्लेखनीय है कि भाजपा के नेता केंद्र और राज्य में एक ही दल की सरकार को डबल इंजन की सरकार कहते हैं। योगी आदित्यनाथ ने दावा करते हुए कहा कि इस बार के चुनाव में जातिवाद की दीवारें तोड़कर जनता ने सुरक्षा, सुशासन और विकास को मुद्दा बनाया और समाज को जाति, मत, मजहब के नाम पर बांटने की विपक्ष की कोशिशें नाकामयाब रहीं। योगी ने दावा किया कि दो माह के मैराथन चुनावी अभियान के दौरान मिले अपार जनसमर्थन के बाद यह तय हो गया है कि 10 मार्च को 80 फीसदी सीटों के साथ भारतीय जनता पार्टी की डबल इंजन की सरकार फिर से बनने जा रही है, शेष 20 फीसदी सीटों के लिए विपक्ष में बंटवारा होगा।

उन्होंने कहा, ‘‘चुनाव प्रचार के दौरान मुझे सभी 75 जिलों में जाने का मौका मिला और इन 75 जिलों की सभी 403 विधानसभा सीटों पर जो उत्साह दिखा, उससे नजर आ रहा है कि भाजपा फिर एक बार सरकार बनाने जा रही है। उल्लेखनीय है कि सात चरणों में प्रस्तावित उत्तर प्रदेश विधानसभा के लिए छह चरणों में मतदान संपन्न हो चुका है और सात मार्च को नौ जिलों की 54 विधानसभा सीटों पर मतदान होगा।

योगी ने कहा, ‘‘प्रदेश में छह चरणों के चुनाव शांतिपूर्ण तरीके से हुए हैं, ये प्रदेश सरकार द्वारा बनाये गये कानून के राज का एक उदाहरण है। ’’ विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए योगी ने आरोप लगाया कि 2014 से पहले क्षेत्रीय दलों ने जाति, मत, मजहब के आधार पर प्रदेश को विभाजित किया था, जिसका नतीजा हुआ कि मूल समस्याओं पर जो ध्यान होना चाहिए था, उस पर ध्यान नहीं दिया गया।

उन्होंने कहा, ‘‘2014 के बाद प्रधानमंत्री जी ने ‘सबका साथ, सबका विकास’ के मूलमंत्र के साथ काम किया, जिसका परिणाम आपने बीते वर्षों में देखा होगा.’’ मुख्यमंत्री ने 2017 के बाद पांच वर्ष के अपने कार्यकाल में विभिन्न विकास कार्यों को गिनाते हुए कहा कि देश की आंतरिक व बाह्य सुरक्षा, आस्था का सम्मान, देश के बुनियादी ढांचा विकास, गरीब कल्याणकारी योजनाओं का लाभ बिना भेदभाव जनता तक पहुंचाने का काम भारतीय जनता पार्टी ने किया है।

योगी ने कहा, ‘‘अन्नदाता किसानों को शासन की योजनाओं का भरपूर लाभ देते हुए उनके जीवन में परिवर्तन लाने का काम भाजपा सरकार ने किया। आज हर बेटी, हर बहन अपने आप को सुरक्षित महसूस कर रही है और इसका परिणाम है कि माताओं-बहनों का आशीर्वाद भाजपा को मिला है। ’’ योगी ने आरोप लगाया कि 2017 के पहले उत्तर प्रदेश की पहचान एक दंगा वाले राज्य के तौर पर थी और अराजकता, टूटी सड़कें, बिजली गायब होना, यह उत्तर प्रदेश की पहचान थी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 2017 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और तत्कालीन भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के मार्गदर्शन में भाजपा ने लोक कल्याण संकल्पपत्र जारी किया था और उसमें प्रदेश को दंगा मुक्त और भयमुक्त बनाने की बात कही गई थी। योगी ने कहा कि आज बुंदेलखंड, पूर्वांचल, विंध्य क्षेत्र, पश्चिमी और मध्य सहित प्रदेश के सभी हिस्सों में जनता खुद सुरक्षित होने की बात कह रही है. योगी ने अयोध्या में निर्माणाधीन श्री राम मंदिर का भी उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि अयोध्या दीपोत्सव, काशी की देव दीपावली, बरसाना का रंगोत्सव दुनिया को भारत की संस्कृति से परिचय करा रहा है. उन्होंने कहा कि विंध्य धाम, नैमिष धाम, शुकतीर्थ के विकास का काम तेजी से चल रहा है, यह आस्था का सम्मान है. इस पत्रकार वार्ता में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व डाक्टर दिनेश शर्मा भी मौजूद थे।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
error: Content is protected !!