HEALTHNEWS

ICMR की स्टडी में खुलासा, देर से आएगी कोरोना की तीसरी लहर, सरकार बोली- सभी को टीका लगाने के लिए हमारे पास 6-8 महीने का समय

नेह पाठक
नई दिल्ली। भारत में कोरोना की तीसरी के देर से आने की संभावना है जिससे देश में ज्यादा से ज्यादा लोगों को टीका लगाने का समय मिल सकता है। ये बात रविवार को COVID वर्किंग ग्रुप के अध्यक्ष डॉक्टर एनके अरोड़ा ने कही। उन्होंने कहा कि ICMR एक स्टडी लेकर आया है जिसमें कहा गया है कि कोरोना की तीसरी लहर के देर से आने की संभावना है। उन्होंने कहा, “हमारे पास देश में हर किसी का टीकाकरण करने के लिए 6-8 महीने का टाइम है. आने वाले दिनों में, हमारा लक्ष्य हर दिन 1 करोड़ खुराक देने का है। “

रविवार सुबह सात बजे तक जारी टीकाकरण संबंधी आंकड़ों के अनुसार, भारत में एक दिन में 64.25 लाख कोविड-19 रोधी टीके लगने से अब तक देशव्यापी अभियान के तहत कुल 32.17 करोड़ खुराक दी जा चुकी है। इसके अलावा 17,45,809 और नमूनों की जांच की गई. इसके साथ ही देश में अब तक 40,18,11,892 नमूनों की जांच हो चुकी है।

बता दें कि भारत में अभी दो ही कोरोना वैक्सीन दी जा रही हैं। भारत में ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की कोविशील्ड और भारत बायोटेक द्वारा तौयार की गई कोवैक्सीन दी जा रही है। इसके अलावा रूस की वैक्सीन स्पुतनिक को भी शुरू किया गया है. हालांकि कुछ और वैक्सीन का भी ट्रायल जारी है। इसके अलावा बच्चों को भी टीका लगाने की तैयारी हो रही है।

COVID वर्किंग ग्रुप के अध्यक्ष डॉक्टर एनके अरोड़ा ने बताया कि जायडस कैडिला वैक्सीन (Zydus Cadila vaccine) का ट्रायल लगभग पूरा हो चुका है। उन्होंने कहा, “जुलाई के अंत तक या अगस्त में, हम 12-18 आयु वर्ग के बच्चों को यह टीका देना शुरू कर सकते हैं। “

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
error: Content is protected !!