NEWS

‘COVID ‘ मरीजों के इलाज के लिए बिहार में नीतीश सरकार ने खोला खजाना

अर्चना सिंह
पटना। बिहार में लगातार बढ़ते करोना मरीजो की संख्या को देखते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने स्वाथ्य विभाग को यह निर्देश दिया है कि कोरोना मरीजों को किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए। सरकार कोरोना पीड़ितों के इलाज के लिए खर्च होने वाली राशि मे कोई कमी नहीं होने देगी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कोरोना महामारी के बीच सोमवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक की।

बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाय कि कोरोना संक्रमितों को किसी भी मरीज को किसी प्रकार की परेशानी न हो। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग योजनाबद्ध तरीके से बेहतर प्रबंधन के साथ काम करे। कोरोना पीड़ितों के लिए सरकार की तरफ से पैसे की कोई कमी नहीं होने दी जायेगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में 18 वर्ष से अधिक और 45 वर्ष से कम उम्र के लोगों का भी टीकाकरण शुरू किया गया है। राज्य सरकार की तरफ से निःशुल्क टीकाकरण कराया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि अधिक से अधिक लोगों को टीकाकरण हो इसके लिए स्वास्थ्य विभाग तेजी से काम करे। कोरोना की संख्या बढ़ाने का निर्देश देते हुए नीतीश कुमार में कहा कि जांच की संख्या और बढ़ाई जाए जिससे अधिक से अधिक संक्रमितों का पता चल सके। नीतीश कुमार ने कहा कि सभी लोगों को कोरोना संक्रमण के प्रति सजग और सचेत रहना होगा. लोग मास्क का प्रयोग जरूर करें साथ ही आपस में दूरी बनाकर रखें.

लॉकडाउन के कारण कोरोना मरीजों में आई कमी

बिहार में कोरोना मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है लेकिन सरकार द्वारा लॉकडाउन लगाने से आंकड़ो में थोड़ी कमी जरूर आयी है। सोमवार को स्वास्थ्य विभाग के द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार बिहार में कोविड-19 के 10174 नए मरीज मिले जिसमें पटना में 1745, कटिहार में 706, गोपालगंज में 541, पूर्वी चंपारण में 478, मुंगेर 304, समस्तीपुर में 463 और वैशाली में 417 के नए मरीज मीले. बिहार में कुल मरीजों की संख्या 105103 है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
error: Content is protected !!