NEWSUTTAR PRADESH

CM योगी ने लिया संज्ञान, ठेले से बांट उठा ले गई थी पुलिस, तराजू देने घर पहुंचे पुलिसकर्मी

निशातगंज चौराहे पर कोरोना कर्फ्यू के दौरान नहीं बन्द हुआ गुड बेकरी। इधर नियम का पालन कर ठेले पर आम बेच रहे युवक का बाट लेकर चले गए पुलिसकर्मी। इंटरनेट मीडिया पर पुलिस की यह करतूत वायरल हुई।

अनुराधा सिंह
लखनऊ। मुख्यमंत्री के संज्ञान लेते ही गरीब फल विक्रेता के घर इलेक्ट्रॉनिक तराजू और तोहफा लेकर लखनऊ पुलिस पहुंच गई। बता दें कि लखनऊ में फल विक्रेता की तस्वीर वायरल हुई थीं, जिसमें एक दरोगा और पुलिस वाला ठेले पर आम लगाने वाले एक आम विक्रेता का तराजू और बांट छीनकर बाइक से जा रहे थे और दुकानदार को धमका रहे थे। बताया जा रहा है कि आम विक्रेता के कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने और बार-बार मिन्नतें करने के बावजूद पुलिस वाले नहीं माने और उसका बांट ले गए, फल विक्रेता उनके पीछे-पीछे दौड़ा, लेकिन वह नहीं माने। आम विक्रेता रोते हुए लौट आया. इसी तस्वीर का संज्ञान CM योगी ने आज लिया है।

बता दें कि एक गरीब ठेला वाला आम बेच रहा था, मास्क भी लगाए था। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी कर रहा था लेकिन दरोगा और पुलिस कर्मी अपनी हनक के आगे कुछ सुनने को तैयार न थे। आमवाला दोनों पुलिसवालों की गाड़ी के पीछे-पीछे दौड़ता रहा, उनके हाथ जोड़ता रहा और माफी मांगता रहा। लेकिन दोनों पुलिसवालों को इस गरीब पर तरस ना आया और उसको धक्का देकर वहां से चले गए। इस घटना की तस्वीरें वहां से गुजर रहे लोगों ने अपने फोन के कैमरे में कैद कर लीं। वीडियो वायरल हुआ तो सीएम योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान लिया।

लखनऊ पुलिस ने गरीब फल विक्रेता दीपू को इलेक्ट्रॉनिक तराजू खरीदकर दिया है। इंस्पेक्टर श्यामबाबू शुक्ला लखनऊ सिटी रेलवे स्टेशन के पास रहने वाले दीपू के घर पहुंचे और उससे आम खरीदा फिर इलेक्ट्रॉनिक तराजू गिफ्ट किया। रविवार सुबह दो पुलिसवालों ने दीपू के साथ अभद्रता की थी और उसका बाट छीन लिया था।

तस्वीरों में साफ दिख रहा था कि आम विक्रेता चेहरे पर मास्क लगाए हुए एकांत जगह पर ठेला खड़ा किया था। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी हो रहा था। लेकिन पुलिसवाले अपनी दबंगई से बाज नहीं आए। खैर कुछ घंटों में ही लखनऊ पुलिस ने अपने कर्मियों की गलती मानते हुए दीपू को इलेक्ट्रॉनिक तराजू दिया।पुलिस की छवि धूमिल हुई तो लखनऊ पुलिस हरकत में आई। इसके बाद इंस्पेक्टर हजरतगंज श्यामबाबू शुक्ला मातहतों के साथ सिटी स्टेशन स्थित दीपू के घर गए और उसे एक इलेक्ट्रिक तराजू भेंट किया। पुलिस के इस प्रयास को प्रायश्चित माना जा सकता है। हालांकि आए दिन पुलिसकर्मियों की करतूत से विभाग को शर्मसार होना पड़ रहा है। राजधानी की कई बाजारों में बड़े व्यापारी चोरी छिपे दुकानें खोल रहे हैं। इनपर पुलिस भी मेहरबान है वहीं, परिवार पालने के लिए फल व सब्जी बेचने वालों पर पुलिस की सख्ती सवालों के घेरे में है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
error: Content is protected !!