NEWSUTTAR PRADESH

BJP नेता अपर्णा यादव की बेटी ने लखनऊ में अपनी बेटी के साथ CM योगी के माथे पर लगाया ‘तिलक’

अखिलेश कुमार

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की सभी 403 सीटों पर गुरुवार को घोषित हुए चुनाव परिणाम में भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने सरकार बनाने के लिए सहयोगियों समेत 273 सीटें जीतकर पूर्ण बहुमत हासिल कर लिया है। उत्तर प्रदेश विधानसभा में BJP को एक बार फिर बहुमत मिलने के बाद समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव ने गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की और उन्हें जीत की बधाई दी। इस दौरान अपर्णा यादव के साथ उनकी बेटी भी थी। मुलायम सिंह यादव की पोती को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के माथे पर तिलक लगाते हुए देखा गया। हाल ही में बीजेपी में शामिल हुईं अपर्णा ने मुख्यमंत्री योगी से मुलाकात की और उनकी छोटी बेटी द्वारा आदित्यनाथ के माथे पर तिलक लगाने का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। #WATCH उत्तर प्रदेश: भाजपा नेता अपर्णा यादव ने लखनऊ में अपनी बेटी के साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ‘तिलक’ लगाया।
pic.twitter.com/NNjYxoNUyS — ANI_HindiNews (@AHindinews) March 10, 2022 समाचार एजेंसी एएनआई द्वारा पोस्ट किए गए वीडियो में दिख रहा है कि अपर्णा की बेटी ने अपनी मां की मदद से सीएम योगी को टीका लगाया तो अच्छे मूड में दिख रहे मुख्यमंत्री ने कहा, ”छोलो जी हो गया…वाह।” अपर्णा और उनकी बेटी दोनों मुख्यमंत्री को जीत की बधाई देने पहुंचे थे। अपर्णा ने भी अपने ट्विटर हैंडल से इस वीडियो को शेयर किया है। जब तक खून में हैं हलचल, भगवा झुक नही सकता।

37 साल बाद पूर्ण कार्यकाल पूरा कर सत्ता बरकरार रखने वाले यूपी के पहले सीएम बने ‘बुलडोजर बाबा’ योगी आदित्यनाथ जबकि कांग्रेस महज दो सीटें जीत दर्ज करने में सफलता पाई है। चुनाव आयोग के मुताबिक, बीजेपी को 41.29 प्रतिशत मत हासिल हुए हैं जबकि समाजवादी पार्टी को 32.06 फीसदी और बहुजन समाज पार्टी को 12.88 प्रतिशत मत प्राप्त हुए हैं। पहली बार विधायक बने सीएम योगी यह पहली बार है जब सीएम योगी आदित्यनाथ विधायक चुने गए हैं। योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर शहर विधानसभा क्षेत्र में अपनी निकटतम प्रतिद्वंद्वी सुभावती उपेंद्र शुक्ला को 1,03,390 मतों के भारी अंतर से पराजित किया है। उपेंद्र दत्त शुक्ला को कुल 62,109 वोट मिले जबकि सीएम योगी ने 1,65,499 वोट हासिल किए। इससे पहले वह विधान परिषद के सदस्य थे। बीजेपी ने 2017 का विधानसभा चुनाव जीता तो पार्टी ने उन्हें मुख्यमंत्री के रूप में चुना था। 2017 में यूपी के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने से पहले वह 1998 से 2017 तक लगातार पांच बार गोरखपुर के सांसद थे। 26 साल की उम्र में आदित्यनाथ सबसे कम उम्र के लोकसभा सांसद थे। वह गोरखनाथ मठ के मुख्य पुजारी भी हैं जो गोरखपुर में एक प्रसिद्ध हिंदू मंदिर है। योगी आदित्यनाथ पिछले 37 वर्षों में उत्तर प्रदेश में पूर्ण कार्यकाल पूरा करने के बाद सत्ता में लौटने वाले पहले मुख्यमंत्री हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
error: Content is protected !!