NEWSUTTAR PRADESH

हाईकोर्ट ने योगी सरकार को दी नसीहत-14 दिन का फुल लॉकडाउन लगा दें

आरती पाण्डेय
लखनऊ। कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण की दूसरी लहर के बीच देश के कई राज्यों के साथ ही उत्तर प्रदेश में भी हालात बेकाबू हैं. इस बीच इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एक बार फिर से यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार (UP Government) को बड़ी नसीहत दे दी है। मंगलवार को कोरोना के मामलों की सुनवाई करते हुए हाई कोर्ट ने यूपी सरकार से राज्य में ऑक्सीजन (Oxygen) और अन्य चिकित्सा सुविधाओं की अत्यधिक कमी को देखते हुए फुल लॉकडाउन (Lockdown) लगाने की नसीहत दी है और कहा है कि कोरोना महामारी से बचने के लिए विकल्पों की तलाश करें।

जज ने कहा-मैं फिर से अनुरोध करता हूं….

हाईकोर्ट में मंगलवार को जस्टिस सिद्धार्थ वर्मा की अगुवाई वाली पीठ राज्य में जारी कोविड संकट पर एक केस की सुनवाई चल रही थी. इस दौरान जज ने कहा, ‘मैं फिर से अनुरोध करता हूं, अगर राज्य में हालात नियंत्रण में नहीं हैं, तो दो सप्ताह का लॉकडाउन लगाने में देर न करें। जज ने आगे कहा कि कृपया अपने नीति निर्माताओं को इसका सुझाव दें। हमें लगता है कि चीजें नियंत्रण के बाहर हो चुकी हैं।

हाई कोर्ट ने चिकित्सा सुविधाओं पर जताई गंभीर चिंता

जस्टिस वर्मा ने गंभीर चिंता जताते हुए ये भी कहा, ‘डॉक्टरों की कमी है, स्टाफ, ऑक्सीजन की कमी है, कोई L1, L2 नहीं है. कागजों पर सब कुछ अच्छा है, लेकिन सच्चाई ये यह है कि सुविधाओं की कमी है और ये बात किसी से छिपी नहीं है। इसलिए हम हाथ जोड़कर, आपसे अपने विवेक का प्रयोग करने का अनुरोध करते हैं।’ गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) द्वारा इलाहाबाद हाईकोर्ट के राज्य के 5 शहरों में लॉकडाउन (Lockdown) लगाने के आदेश पर रोक लगाने के करीब एक हफ्ते बाद हाई कोर्ट की ये टिप्पणी सामने आई है।

हाई कोर्ट ने निर्देश दिया कि सरकार यह सुनिश्चित करे कि प्रत्येक जिले में सभी सरकारी कोविड-19 अस्पतालों और संक्रमण के इलाज के लिए निर्धारित निजी अस्पतालों एवं कोविड-19 केंद्रों में प्रत्येक व्यक्ति की मौत की सूचना एक न्यायिक अधिकारी को दी जाए, जिसकी नियुक्ति जिला न्यायाधीश द्वारा की जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
error: Content is protected !!