NEWSUTTAR PRADESH

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने दो करोड़ श्रमिकों के लिए किया बड़ी योजनाओं का ऐलान

सौरभ शुक्ला
लखनऊ।अंतरराष्ट्रीय श्रमिक दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश के दो करोड़ मजदूरों को सामाजिक सुरक्षा का कवच मुहैया कराने के लिए दो योजनाओं का ऐलान किया। पहली योजना के तहत किसी दुर्घटना में श्रमिक की मृत्यु या अंग भंग या स्थाई दिव्यांगता होने पर उसे दो लाख रुपये का सुरक्षा बीमा कवर मुहैया कराया जाएगा। वही बड़ी संख्या में आयुष्मान भारत योजना से छूटे श्रमिकों को पांच लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा कवर उपलब्ध कराया जाएगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को अपने सरकारी आवास पर वर्चुअल माध्यम से कामगारों व श्रमिक संगठनों के साथ संवाद कर रहे थे। सीएम योगी ने श्रमिकों से अपील की कि वे कोरोना से अपने व परिवार का बचाव करते हुए देश के नवनिर्माण में अपनी सक्रिय भूमिका निभाएं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोविड-19 की दूसरी लहर के दौरान प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत निशुल्क खाद्यान्न वितरण की व्यवस्था पांच मई से शुरू होगी। पिछले साल कोविड के दौरान 54 लाख सैनिकों को भरण-पोषण भत्ता वह 40 लाख से अधिक प्रवासी श्रमिकों को रोजगार व अन्य सुविधाएं दी गई थीं। निर्माण श्रमिकों के बच्चों को सीबीएसई पैटर्न पर निश्शुल्क आवासीय शिक्षा मुहैया कराने के लिए उन्होंने प्रदेश के 18 मंडल मुख्यालयों पर शुरू होने जा रही अटल आवासीय विद्यालय योजना का जिक्र किया। यह भी बताया कि श्रमिकों के बच्चों को मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के तहत प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के मुफ्त कोचिंग की सुविधा मिलेगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि साप्ताहिक कोरोना कर्फ्यू के दौरान औद्योगिक इकाइयां संचालित रहेंगी। वहां पर कोविड हेल्पडेस्क की व्यवस्था सुनिश्चित कराई गई है ताकि श्रमिकों को किसी प्रकार की असुविधा न हो। सरकारी सुनिश्चित करेगी कि श्रमिकों के आवागमन में किसी तरह की बाधा न हो। कोविड संक्रमण से बचाव के लिए कार्य स्थलों पर श्रमिकों के लिए सैनिटाइजर, थर्मल स्कैनिंग, पल्स ऑक्सीमीटर आदि की व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं। श्रमिकों को सतर्कता और बचाव से कोरोना पर नियंत्रण पाने की सलाह देते हुए योगी ने उन्हें कोरोना टीकाकरण के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कोरोना संक्रमण के खिलाफ जारी जंग में राज्य सरकार की ओर से किए गए इंतजामों की जानकारी दी।

इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कुछ श्रमिकों से बातचीत भी की। इनमें गौतम बुद्ध नगर के गौतम बघेल, अयोध्या के केदारनाथ यादव, आगरा के सोनपाल व अशोक कुमार और प्रयागराज के अरुण कुमार व दीपक कुमार वर्मा शामिल थे। मुख्यमंत्री ने इनसे पूछा कि क्या उन्हें राज्य सरकार की ओर से श्रमिकों के कल्याण के लिए चलाई जा रही योजनाओं का फायदा मिल रहा है? इस पर सभी ने सकारात्मक जवाब दिया। वर्चुअल संवाद कार्यक्रम में श्रम एवं सेवायोजन मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य, श्रम राज्य मंत्री मनोहर लाल कोरी व अपर मुख्य सचिव श्रम सुरेश चंद्रा भी शामिल थे।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
error: Content is protected !!