NEWSUTTAR PRADESH

दयानंद शिक्षण संस्थान के सचिव डॉ. नागेंद्र स्वरूप का निधन, लंबे समय थे बीमार

वैभव श्रीवास्तव
कानपुर नगर। दयानंद शिक्षण संस्थान के सचिव डॉ. नागेंद्र स्वरूप (अष्टू बाबू) का सोमवार सुबह निधन हो गया। वे लंबे समय से बीमार चल रहे थे। उपचार के लिए डॉ. स्वरूप को रीजेंसी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उन्होंने अंतिम सांस ली। उनके निधन की जानकारी मिलते ही पूरे शिक्षा जगत में शोक की लहर छा गई। शिक्षकों के साथ शहर के सभी गणमान्य लोगों ने अपूर्णयीय क्षति बताते हुए इसे एक इतिहास का अंत बताया।

कानपुर में प्राथमिक से उच्च शिक्षा के क्षेत्र में डॉ. नागेंद्र स्वरूप का नाम जाना पहचाना है। फिर चाहे डॉ. वीरेंद्र स्वरूप एजुकेशन सेंटर की बात करें या फिर डीएवी कॉलेज से लेकर डीबीएस कॉलेज, डीजी कॉलेज, महिला महाविद्यालय हो। डॉ. नागेंद्र स्वरूप के दो भाई थे, जागेंद्र स्वरूप व रागेंद्र स्वरूप। डॉ. नागेंद्र स्वरूप के बेटे गौरवेंद्र स्वरूप ने बताया कि पिता का अंतिम संस्कार भैरव घाट पर दोपहर दो बजे किया जाएगा।

वहीं, डॉ. स्वरूप का शव उनके सिविल लाइंस स्थित आवास पर पहुंचते ही अंतिम दर्शन के लिए शिक्षकों से लेकर शहर के गणमान्य लोगों के पहुंचने का सिलसिला चलता रहा। डॉ. स्वरूप को कुछ दिन पहले कोरोना संक्रमण हुआ था। लेकिन, इसके बाद वे पूरी तरह ठीक हो गए थे। मगर इसके बाद फिर तबीयत खराब होने से उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
error: Content is protected !!