GamesNEWS

चंडीगढ़: मिल्खा सिंह की पत्नी का कोरोना से निधन, अंतिम संस्कार में नहीं जा सके ‘फ्लाइंग सिख’

नेहा वर्मा
चंडीगढ़। महान धावक पद्मश्री मिल्खा सिंह की पत्नी निर्मल मिल्खा सिंह के निधन से खेल जगत में शोक की लहर है। वह पिछले कई दिनों से मोहाली के एक निजी अस्पताल में कोरोनो से जंग लड़ रहीं थीं। उधर, पीजीआई चंडीगढ़ में भर्ती मिल्खा सिंह की हालत में सुधार है। महान धावक मिल्खा सिंह की पत्नी निर्मल मिल्खा सिंह का कोरोना से निधन हो गया है। रविवार शाम चार बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। वह 85 वर्ष की थीं। निर्मल मिल्खा सिंह भारतीय महिला वालीबॉल टीम की पूर्व कप्तान और पंजाब सरकार में पूर्व खेल निदेशक (महिला) थीं। कोरोना संक्रमित होने के बाद उन्हें मोहाली के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। मिल्खा सिंह भी पीजीआई चंडीगढ़ में आईसीयू में भर्ती हैं। इस वजह से वह अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो सके।

मिल्खा सिंह के स्वास्थ्य में सुधार
पीजीआई चंडीगढ़ में भर्ती कोरोना संक्रमित पद्मश्री मिल्खा सिंह के स्वास्थ्य में लगातार सुधार हो रहा है। संक्रमण के दौरान बढ़े हुए अन्य पैरामीटर भी धीरे-धीरे सामान्य हो रहे हैं। उन्हें पीजीआई के आईसीयू यूनिट-1 में बनाए गए आइसोलेशन रूम में रखा गया है। पीजीआई में भर्ती होने के बाद पिछले हफ्ते मिल्खा सिंह की दोबारा कोरोना जांच की गई थी, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। अगले कुछ दिनों में फिर से कोरोना जांच की जाएगी। 

19 मई को रसोइए की वजह से संक्रमित हो गए थे मिल्खा सिंह
मिल्खा सिंह 19 मई को अपने रसोइए के कारण संक्रमित हो गए थे। 24 मई को उन्हें मोहाली के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 26 मई को उनकी पत्नी निर्मल मिल्खा सिंह (85) को भी संक्रमण के चलते इसी अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था। 

30 मई को परिवार के अनुरोध पर मिल्खा सिंह को छुट्टी दे दी गई। इसके बाद वह सेक्टर-8 स्थित अपनी कोठी में ही रहे। 3 जून को अचानक तबीयत बिगड़ने के कारण उन्हें पीजीआई में भर्ती कराना पड़ा। तब से वह यहीं उपचाराधीन हैं। 22 मई को उनके बेटे मशहूर गोल्फर जीव मिल्खा सिंह भी दुबई से भारत आ गए थे। वह भी पिता की देखभाल में लगे हैं। लेकिन निर्मल मिल्खा सिंह फोर्टिस अस्पताल में ही भर्ती थीं। 

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
error: Content is protected !!