NEWS

उत्तर प्रदेश 15 मई तक दूसरी लहर में हॉटस्पॉट, 18 पार को कोविन पर पंजीकरण के बाद ही टीका

नेहा पाठक
नई दिल्ली।
देश में कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ रहे मामलों के बीच टीका लगवाने वाले 18 से 44 साल की आयु के लोगों के लिए कोविन वेब पोर्टल पर पंजीकरण कराना और टीकाकरण के लिए समय लेना अनिवार्य होगा। वहीं, केंद्र सरकार के एक अनुमान के मुताबिक, महाराष्ट्र, गुजरात और दिल्ली के बाद उत्तर प्रदेश में कोरोना मध्य मई तक चरम पर होगा। यूपी में 30 अप्रैल तक हर दिन 1.9 लाख से ज्यादा मामले सामने आ सकते हैं। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में ज्यादा मामलों वाले राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ हुई बैठक में नीति अयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) वीके पॉल ने ये बातें कहीं। पॉल की अध्यक्षता वाले एक केंद्रीय पैनल ने अनुमान में कहा है कि बड़ी आबादी वाले राज्य ज्यादा जोखिम में हैं और इन राज्यों का स्वास्थ्य बुनियादी ढांचा मौजूदा गंभीर हालात से निपटने के लिए पर्याप्त नहीं है।

यह भी कहा गया है कि यूपी में 30 अप्रैल को 1,19,604 मामले सामने आएंगे। वहीं, इसी अवधि तक महाराष्ट्र में 99,665 और दिल्ली में 67,134 संक्रमित मिलेंगे। यूपी में हर दिन तकरीबन 16,752 ऑक्सीजन से लैस आइसोलेशन बेड की कमी होगी। वहीं, 3,061 आईसीयू बेड और 1,538 वेंटिलेटरों की कमी होगी।

45 से ज्यादा वाले केंद्र पर लगवा सकते हैं टीका
सूत्रों के मुताबिक, 45 से कम उम्र वालों को शुरुआत में टीकाकरण केंद्र पर पंजीकरण कराने की अनुमति नहीं है। वहीं, 45 से ज्यादा उम्र वाले टीकाकरण केंद्र पर पंजीकरण कराकर टीका लगवा सकते हैं। 28 अप्रैल से कोविन एप और आरोग्य सेतु एप पर पंजीकरण कराया जा सकता है।

दिल्ली में हर दिन 16,061 बेड की कमी
दिल्ली में हर दिन 16,061 ऑक्सीजन बेड, 2,877 आईसीयू बेड, 1,450 वेंटिलेटरों की कमी होगी। दिल्ली पहले से ही ऑक्सीजन संकट से जूझ रही है और अस्पताल गंभीर मरीजों के लिए ऑक्सीजन की भीख मांग रहे हैं। दिल्ली में हर रोज ऑक्सीजन की मांग 700 मीट्रिक टन है, जबकि उसे 480 मीट्रिक टन ही ऑक्सीजन मिल पा रही है। 

हर दिन 3,300 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की हो रही आपूर्ति
नीति आयोग ने कहा है कि सरकार तरल ऑक्सीजन और रेमडेसिविर की आपूर्ति बढ़ाने में लगी है। अभी हर दिन 3,300 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है। देश में 1,172 ऑक्सीजन टैंकरों (16,732 मीट्रिक टन क्षमता) को बढ़ाकर 2,000 से ज्यादा कर दिया है। वहीं, रेमडेसिविर शीशियों की उत्पादन क्षमता हर माह 27.44 लाख से बढ़ाकर मई में 74.10 लाख करने का लक्ष्य है। करीब 49.07 लाख शीशियों की देशभर में आपूर्ति कर दी गई है।

13 राज्यों ने किया मुफ्त टीके का एलान
अब तक 13 राज्यों ने एक मई से 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को मुफ्त टीका लगाने का एलान किया है। उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, बिहार, दिल्ली, छत्तीसगढ़, पंजाब, केरल, असम, झारखंड, गोवा, राजस्थान और सिक्किम के बाद महाराष्ट्र की सरकार ने भी अपने नागरिकों को मुफ्त टीका देने की घोषणा की है। 

लगातार चौथे दिन देश में तीन लाख से ज्यादा मिले संक्रमित
देश में लगातार चौथे दिन तीन लाख से अधिक मामले सामने आए हैं। वहीं एक दिन में 2,767 लोगों की मौत हुई है। केवल पांच राज्यों को छोड़ दें तो सभी जगह बीते शनिवार को कम से कम एक मरीज की मौत हुई है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार पिछले एक दिन में 3,49,791 मामले सामने आए हैं। इनमें से 75 फीसदी मामले देश के 10 राज्यों में मिले हैं। महाराष्ट्र में एक दिन में सबसे ज्यादा 67,160 मामले सामने आए हैं।

वहीं, यूपी में 37,944 और कर्नाटक में 29,438 केस मिले हैं। अभी 12 राज्य ऐसे हैं जहां हर दिन नए मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 26,82,751 तक पहुंच चुकी है। 15.82 फीसदी सक्रिय दर है जो भारत में पहली बार दर्ज की गई है। पिछले एक दिन में 1,29,811 सक्रिय मामले बढ़े हैं।

मंत्रालय ने यहां तक बताया कि देश के आठ राज्यों में 70 फीसदी सक्रिय मामले हैं। इनमें महाराष्ट्र के अलावा यूपी, कर्नाटक, केरल, राजस्थान, छत्तीसगढ़, गुजरात और तमिलनाडु शामिल हैं। देश में अब तक वायरस से 1,92,309 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं 1,40,77,870 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। ब्यूरो

देश में 551 ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र लगेंगे
देशभर में सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्रों पर 551 समर्पित चिकित्सा ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्रों की स्थापना की जाएगी। ये संयंत्र विभिन्न राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों में जिला मुख्यालयों पर चिह्नित सरकारी अस्पतालों में स्थापित किए जाएंगे।

प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी बयान के मुताबिक, खरीद प्रक्रिया स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के माध्यम से की जाएगी। इससे जिले के सरकारी अस्पताल ऑक्सीजन की आपूर्ति में अचानक पैदा होने किल्लत से बच सकेंगे और कोरोना समेत बाकी जरूरतमंद मरीजों के लिए निर्बाध रूप से पर्याप्त ऑक्सीजन मिल सकेगी। 

ऑक्सीजन लाने वाले जहाजों से कोई शुल्क न लें बंदरगाह: केंद्र
केंद्र सरकार ने सभी प्रमुख बंदरगाहों से ऑक्सीजन और अन्य संबंधित उपकरण लाने वाले जहाजों से बंदरगाहों पर लगने वाले सभी शुल्क खत्म करने का निर्देश दिया है।

बंदरगाह, पोत परिवहन एवं जलमार्ग मंत्रालय ने रविवार को कहा, हमनेे सभी प्रमुख बंदरगाहों को मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन, ऑक्सीजन टैंक, ऑक्सीजन बोतल, पोर्टेबल ऑक्सीजन जनरेटर और ऑक्सीजन कन्स्ट्रेटर लाने वाले जहाजों को बंदरगाहों पर आने को प्राथमिकता देने को कहा है।

दिल्ली में लॉकडाउन तीन तक बढ़ा
दिल्ली सरकार ने लॉकडाउन की अवधि एक सप्ताह और बढ़ाकर 3 मई सुबह पांच बजे तक कर दी है। 19 अप्रैल को छह दिन के लिए लगाए गए लॉकडाउन की अवधि सोमवार सुबह पांच बजे खत्म होनी थी।

इस दौरान जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों के अलावा किसी को बाहर निकलने की इजाजत नहीं होगी। आदेश का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने इससे जुड़ा आदेश जारी कर दिया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में बढ़ते मामलों को देखते हुए यह निर्णय लेना बहुत जरूरी हो गया था।

ऑक्सीजन एक्सप्रेस पहुंची: छत्तीसगढ़ के रायगढ़ स्थित जिंदल स्टील वर्क्स प्लांट से शनिवार रात रवाना हुई पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस सोमवार रात तक दिल्ली पहुंच गई। दिल्ली में ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए इस ट्रेन से लगभग 70 टन जीवनरक्षक गैस लाई जा रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
error: Content is protected !!