NEWSUTTAR PRADESH

उत्तर प्रदेश में चुनाव ड्यूटी करने वाले लगभग 700 शिक्षकों की मौत : प्रियंका गांधी वाद्रा

अनुराधा सिंह
लखनऊ। कांग्रेस महासचिव एवं उत्तर प्रदेश की पार्टी प्रभारी प्रियंका गांधी वाद्रा ने शनिवार को सरकार पर सच दबाने का आरोप लगाते हुए दावा किया कि राज्य में चुनाव ड्यूटी करने वाले लगभग 700 शिक्षकों की मृत्यु हो चुकी है और इनमें एक गर्भवती महिला भी शामिल है। उन् होंने राज् य निर्वाचन आयोग पर भी गंभीर आरोप लगाया। प्रियंका इन आरोपों के बाद उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता और खादी ग्रामोद्योग मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने शनिवार को पलटवार करते हुए कहा कि प्रियंका गांधी और कांग्रेस पार्टी केवल झूठ के सहारे राजनीति करती आई है।

प्रियंका ने शनिवार को ट्वीट किया कि ‘उप्र में चुनाव ड्यूटी करने वाले लगभग 700 शिक्षकों की मृत्यु हो चुकी है और इनमें एक गर्भवती महिला भी शामिल है जिसे चुनाव ड्यूटी करने के लिए जबरन मजबूर किया गया।’

ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘कोरोना की दूसरी लहर की भयावहता के बारे में एक बार भी विचार किए बिना उप्र की लगभग 60,000 ग्राम पंचायतों में इन चुनावों को कराया गया। बैठकें हुईं, चुनाव अभियान चला और अब ग्रामीण इलाकों में कोरोना का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है। उन्होंने सिलसिलेवार ट्वीट में आरोप लगाया कि ‘ग्रामीण इलाकों में लोगों की बड़ी संख्या में मृत्यु हो रही है जो झूठे सरकारी आंकड़ों से कहीं ज्यादा है।’

कांग्रेस महासचिव ने कहा, ‘पूरे उप्र के ग्रामीण इलाकों में लोगों की घरों में मृत्यु हो रही है और इनको कोविड से होने वाली मौतों के आंकड़ों में भी नहीं गिना जा रहा क्योंकि ग्रामीण इलाकों में जांच ही नहीं हो रही है। उन्होंने यह भी लिखा कि ‘सरकार का रुख सच दबाने की तरफ है और उसका अधिकतम प्रयास जनता व लोगों की दिन-रात सेवा कर रहे मेडिकल समुदाय को भयभीत करने में रहा है।’

कांग्रेस महासचिव ने ट्वीट में लिखा, ‘उत्तर प्रदेश में जो घट रहा है, वह मानवता के खिलाफ अपराध से कम नहीं है और राज्य निर्वाचन आयोग इसमें भागीदार है। उन्होंने अपने ट्वीट के साथ उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षक संघ द्वारा जारी की गई मृत शिक्षकों की सूची भी संलग्न की।

शनिवार की शाम जारी एक बयान में उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री और प्रवक्ता सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि प्रियंका गांधी और पूरी कांग्रेस पार्टी सिर्फ झूठ और फरेब के सहारे ही राजनीति करती आई है, यह उनकी पुरानी आदत है और ट्विटर पर बार-बार उत्तर प्रदेश सरकार पर आरोप लगाना कांग्रेस की पुरानी और पसंदीदा राजनीति का हिस्सा है।

उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय ने भी उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव की मतगणना के आदेश दे दिए हैं और न् यायालय योगी सरकार के जवाब से संतुष्ट है क्योंकि योगी सरकार कोविड प्रोटोकॉल को पालन कर रही है, ऐसे में प्रियंका को इस तरीके से बयानबाजी करना शोभा नहीं देता है। कांग्रेस को पहले अपने दामन में झांक कर देखना चाहिए कि जहां जहां उनकी सरकार है वहां के हालात बदतर होते जा रहे हैं। कांग्रेस ऐसे आरोप और बयानबाजी कर सिर्फ अपनी खोई जमीन तलाशने के लिये कर रही है।

सिंह ने आरोप लगाया कि पिछले 70 सालो में कांग्रेस सरकार ने सिर्फ झूठ की राजनीति ही की है। उन्होंने कहा कि प्रियंका भी मजबूर हैं क्योंकि उनकी पार्टी ने इतने साल सत्ता में रह कर भी कुछ नहीं किया और अब वह झूठ का सहारा नहीं लें तो क्या करें।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
error: Content is protected !!